Education

विदेश में पढ़ाई करने के 5 फायदे

विदेश में पढ़ाई करना छात्रों के लिए जीवन बदलने वाला अनुभव हो सकता है। अपने वैश्विक नेटवर्क को बढ़ाने से लेकर नई संस्कृति का अनुभव करने तक, आपकी शिक्षा और करियर को होने वाले लाभ महत्वपूर्ण हैं। इसे देखते हुए, इसमें कोई आश्चर्य की बात नहीं है कि पिछले 25 वर्षों में अपने देश के बाहर डिग्री हासिल करने वाले छात्रों की संख्या तीन गुना हो गई है। वर्तमान में, पिछले दशक की तुलना में विदेशों में अध्ययन करने वाले 100,000 अधिक अमेरिकी छात्र हैं, साथ ही अमेरिका में दस लाख से अधिक अंतरराष्ट्रीय कॉलेज के छात्र और क्या अधिक है, विदेशों में अध्ययन करने वालों की छात्र प्रोफाइल में वृद्धि जारी है, जिसमें संख्या में वृद्धि भी शामिल है। स्नातक स्तर के छात्र जो अंतरराष्ट्रीय स्तर पर अध्ययन करना चुनते हैं।

अपने भाषा कौशल में सुधार

विदेश में अध्ययन करके, आपको अपने भाषा कौशल को सुधारने का अवसर मिलेगा। कक्षा में किसी भाषा का अध्ययन करना फायदेमंद होता है, लेकिन इसे वास्तविक दुनिया में लागू करना एक पूरी तरह से अलग अनुभव होता है। यह संभावना है कि आप भाषा को तेजी से सीखेंगे क्योंकि आप इसका नियमित रूप से अभ्यास कर रहे हैं। आप उस संवादी भाषा को भी चुन सकेंगे जो आप कक्षा में नहीं पढ़ेंगे, जिससे आप स्थानीय की तरह बोल सकेंगे।

study abroad

अपने भाषा कौशल को विकसित करने से आपके करियर पर भी सकारात्मक प्रभाव पड़ सकता है। बहुराष्ट्रीय या वैश्विक उपस्थिति वाले संगठनों में काम करते समय दूसरी भाषा में प्रवाह अक्सर सहायक होता है (यदि आवश्यक नहीं है)। यदि आप अंतरराष्ट्रीय व्यापार या वैश्विक स्वास्थ्य की दुनिया में प्रवेश करने में रुचि रखते हैं, उदाहरण के लिए, मजबूत विदेशी भाषा कौशल और अनुभव जो उन कौशलों को प्रदर्शित करता है, आपके रिज्यूमे को नियोक्ताओं के सामने खड़ा करने में मदद कर सकता है। अंतरराष्ट्रीय संबंधों और कूटनीति में कई करियर भी विदेशी भाषा कौशल पर बहुत अधिक निर्भर करते हैं। यद्यपि एक विदेशी सेवा अधिकारी बनने के लिए कोई विशिष्ट भाषा आवश्यकता नहीं है, एक विदेशी भाषा के साथ प्रवीणता और अनुभव एक राजनयिक, राजदूत, या संयुक्त राष्ट्र के साथ अन्य पदों के लिए चयन के दौरान एक उम्मीदवार की प्रतिस्पर्धा का एक प्रमुख घटक है।

शिक्षण की एक अलग शैली का अनुभव करें

प्रत्येक देश की शिक्षण की अपनी अनूठी शैली होती है। विदेश में अध्ययन करने से आपको अपने शैक्षणिक क्षितिज का विस्तार करने और विभिन्न शैक्षिक सेटिंग्स के अनुकूल होने की क्षमता विकसित करने में मदद मिल सकती है। शिक्षण की विभिन्न शैलियों को अपनाने से आपको विभिन्न प्रबंधन शैलियों के साथ तालमेल बिठाने में मदद मिल सकती है, जिससे आप कार्यस्थल में अधिक बहुमुखी बन सकते हैं।

नियोक्ताओं को प्रभावित करें

विदेश में पढ़ाई करने से आपको अपना करियर शुरू करने और कार्यबल में अधिक प्रतिस्पर्धी बनाने में मदद मिल सकती है। यह आपको भविष्य और वर्तमान नियोक्ताओं को दिखाने का अवसर देता है कि आपके पास एक अलग वातावरण के अनुकूल होने के लिए खुले दिमाग, संसाधनशीलता और ड्राइव की आवश्यकता है।
कई नियोक्ता ऐसे स्नातकों की तलाश में हैं जिनके पास अंतरराष्ट्रीय अनुभव है। हाल के एक सर्वेक्षण के अनुसार, 64 प्रतिशत नियोक्ता विदेश में अध्ययन के अनुभव को महत्वपूर्ण मानते हैं, और 92 प्रतिशत नियोक्ता हस्तांतरणीय कौशल की तलाश करते हैं जो आम तौर पर अनुभव से प्राप्त होते हैं, जैसे नई चुनौतियों के लिए लचीलापन।

नई संस्कृतियों और दृष्टिकोणों के बारे में जानें।

एक अलग संस्कृति के साथ आपका अनुभव आपको अपने विश्वदृष्टि का विस्तार करने की अनुमति देता है। विदेश में अध्ययन करके, आप नए दृष्टिकोणों के बारे में जानेंगे और क्रॉस-सांस्कृतिक जागरूकता विकसित करेंगे।

उदाहरण के लिए, आप अपनी अगली नौकरी में दूसरे देशों के लोगों के साथ काम कर सकते हैं। विदेश में अध्ययन करके, आप विभिन्न पृष्ठभूमि के लोगों के साथ अधिक सहज होंगे, उनके अनूठे अनुभवों को महत्व देंगे और उनके साथ एक मजबूत संबंध स्थापित करेंगे। अक्सर, हमारी सांस्कृतिक पृष्ठभूमि का इस बात पर बहुत प्रभाव पड़ता है कि हम विभिन्न परिस्थितियों में कैसे प्रतिक्रिया करते हैं। विभिन्न दृष्टिकोणों को प्राप्त करने से आपको अनुभवों को पूरी तरह से नए तरीके से देखने में मदद मिल सकती है।

विदेश में पढ़ाई करके, आप अलग-अलग परवरिश वाले लोगों से मिलेंगे, जिससे आपको अपने क्षितिज का विस्तार करने और अपने दिमाग को व्यापक बनाने में मदद मिलेगी। इसके अलावा, किसी अन्य संस्कृति का अनुभव करने का सबसे अच्छा तरीका है कि आप उसमें डूब जाएं, और ऐसा करने का आदर्श तरीका दूसरे देश में रहना है।

आत्मविश्वास का विकास

अपने आप को किसी अन्य संस्कृति में विसर्जित करके, आप व्यक्तिगत विकास के लिए आवश्यक मूल्यवान जीवन कौशल विकसित करते हैं, जिसमें स्वतंत्रता और अनुकूलन क्षमता शामिल है। ये कौशल आपको अपने व्यक्तिगत और व्यावसायिक जीवन में आत्मविश्वास का अतिरिक्त बढ़ावा दे सकते हैं। विदेश में पढ़ाई करना भारी पड़ सकता है, लेकिन जिन चुनौतियों का आप सामना करते हैं, वे आपको अधिक परिपक्व व्यक्ति बनने में मदद कर सकती हैं। आप पाएंगे कि आप अक्सर नई, अप्रत्याशित परिस्थितियों में कामयाब हो सकते हैं, और आप एक नई भाषा बोलकर अपने संचार कौशल को बढ़ावा देंगे—आपको अपने आत्मविश्वास को और बेहतर बनाने में मदद करेंगे।

अपने नए वातावरण को जल्दी से अपनाने से आपकी आत्मनिर्भरता और लचीलापन बढ़ेगा। डॉक्टर के पास जाने जैसे छोटे कार्यों से लेकर बड़े मुद्दों तक, जैसे प्रोफेसर के साथ बातचीत करना सीखना या किसी भिन्न संस्कृति की प्रबंधन शैली के अनुकूल होना, आपका दैनिक जीवन आपको अधिक सक्षम व्यक्ति बनने में मदद कर सकता है।

Facebook Comments

Show More

Leave a Reply

Back to top button